मध्य प्रदेशस्टेट न्यूज

भोपाल के सामूहिक आत्महत्या मामले में मिला पाकिस्तानी कनेक्शन SIT ने किया दावा जल्द होगी मामले से जुड़े आरोपियों की पहचान

Pakistani connection found in mass suicide case of Bhopal :  भोपाल में ऑनलाइन कर्ज के कारण आत्महत्या करने वाले दंपत्ति के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। जो एसआईटी ने किया है.

Pakistani connection found in mass suicide case of Bhopal :भोपाल में ऑनलाइन कर्ज के कारण आत्महत्या करने वाले दंपत्ति के मामले में पाकिस्तानी कनेक्शन सामने आया है। बताया जा रहा है कि जिस नंबर से शख्स को धमकी दी जा रही है वह नंबर पाकिस्तान का है. एसआईटी ने इसका खुलासा किया है

जल्द ही आरोपियों की पहचान कर ली जाएगी

दरअसल, भोपाल के रातीबड़ में एक पति-पत्नी ने ऑनलाइन कंपनी के कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या कर ली. इसके बाद से मामला गरमा गया है. इस घटना के बाद एसआईटी ने इस मामले में बड़ा खुलासा किया है. एसआईटी की जांच में खुलासा हुआ है कि रिकवरी एजेंट पाकिस्तानी नंबरों से मैसेज भेजकर ब्लैकमेल कर रहे थे. एसआईटी का दावा है कि वह जल्द ही आरोपियों की पहचान कर लेगी, जिसके लिए उन्होंने बैंकों को पत्र लिखकर जानकारी मांगी है.

यह भी पढ़ें :  रिश्ते के भाई ने टुकड़े टुकड़े कर गाड़ दिया 50 फीट जमीन के नीचे ऐसे हुआ खुलासा

इसके अलावा एसआईटी की टीम जल्द ही मृतक के परिजनों से भी मुलाकात करेगी, कहा जा रहा है कि परिजनों के बयान से कुछ अहम जानकारी सामने आ सकती है. मृतक मूलतः रीवा के रहने वाले थे। जिसके चलते उनका अंतिम संस्कार भी वहीं किया गया। फिलहाल एसआईटी की टीम मामले की जांच कर रही है.

यह भी पढ़ें : दो बच्चों समेत पति पत्नी ने की आत्महत्या जताई एक साथ अंतिम संस्कार करने की आखिरी इच्छा पढ़िए 4 पन्ने का सुसाईड नोट

कंपनी से लोन लिया था

आपको बता दें कि भोपाल के नीलबड़ इलाके की शिव विहार कॉलोनी में रहने वाले 38 वर्षीय भूपेन्द्र विश्वकर्मा कोलंबिया स्थित एक कंपनी में ऑनलाइन नौकरी करते थे. अप्रैल में, भूपेन्द्र को अपने मोबाइल पर एक ऑनलाइन नौकरी के लिए एक व्हाट्सएप संदेश मिला, जिसके बाद टेलीग्राम पर भी ऐसा ही ऑफर आया, जिसके बाद भूपेन्द्र ने कंपनी के साथ घर से काम करना शुरू कर दिया। भूपेन्द्र ने कंपनी से लोन भी लिया था। बाद में कंपनी के रिकवरी एजेंट उसे कर्ज चुकाने के लिए धमकाने लगे। जिसके चलते उन्होंने अपने परिवार के साथ आत्महत्या कर ली.

यह भी पढ़ें :  रीवा में चार-चार अर्थी एक साथ उठती देख नम हो गई लोगो की आँखें गृहमंत्री ने दिए एसआईटी जाँच के आदेश

देश के बाहर से आपरेट हो रहे ऐप

भोपाल पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी ने बताया कि फर्जी लोन ऐप देश के बाहर से संचालित हो रहे हैं. लोन ऐप कंपनियां आउटसोर्स हैं और इनका मुख्यालय भारत में है। ये ऐप कई दूसरे देशों से ऑपरेट हो रहा है. इसके अलावा, उन्होंने कहा कि पुलिस अभी भी भोपाल सामूहिक आत्महत्या मामले में आईपी एड्रेस और कॉल डिटेल्स का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

विधायक ने सीबीआई जांच की मांग की

वहीं मैहर से बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने सीएम को पत्र लिखा है. हाल ही में भोपाल के रीवा में रहने वाले विश्वकर्मा परिवार ने सामूहिक आत्महत्या के मामले में ऑनलाइन फ्रॉड कंपनियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई, मामले की सीबीआई जांच और पीड़ित परिवार को 1 करोड़ रुपये की सहायता देने की मांग की है.

यह भी पढ़ें :  भोपाल में सामूहिक आत्महत्या मामले के बाद Online Loan Apps मामले में CM  हुए शख्त बुलाई विशेष बैठक दिए ये 5 कड़े निर्देश

Sanjay Vishwakarma

संजय विश्वकर्मा (Sanjay Vishwakarma) 41 वर्ष के हैं। वर्तमान में देश के जाने माने मीडिया संस्थान में सेवा दे रहे हैं। उनसे servicesinsight@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है। वह वाइल्ड लाइफ,बिजनेस और पॉलिटिकल में लम्बे दशकों का अनुभव रखते हैं। वह उमरिया, मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। उन्होंने Dr. C.V. Raman University जर्नलिज्म और मास कम्यूनिकेशन में BJMC की डिग्री ली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button