मध्य प्रदेशस्टेट न्यूज

Umaria News : खैरवार गोली कांड का मुख्य आरोपी पवन पाठक गिरफ्तार,पढ़िए क्या हुआ था उस रात

उमरिया जिले के चंदिया थानांतर्गत ग्राम खैरवार में हुए गोलीकांड में एक की मौत हो गई थी जिसमे मुख्य आरोपी पवन पाठक बीते 3 साल से पुलिस तलाश रही थी जिसे इंदौर क्राइम ब्रांच ने पकड़ कर उमरिया पुलिस के हवाले किया है।

Umaria News : खैरवार गोली कांड का मुख्य आरोपी शातिर बदमाश पवन पिता बद्री प्रसाद पाठक उम्र 40 वर्ष निवासी साउथ करौंदिया,थाना कोतवाली जिला सीधी को इंदौर क्राइम ब्रांच से सुपुर्दगी लेकर चंदिया पुलिस ने मंगलवार को सम्मानीय न्यायालय मे पेश किया है,जहां सम्मानीय न्यायालय ने पुलिस रिमांड दी है।इस अवधि में पुलिस हत्या में प्रयुक्त हथियार सहित मामले से जुड़ी क़ई सामग्री जपत करने का प्रयास करेगी,वही वर्ष 2019 के वर्षांत में हुए खैरवार गोली कांड एवम हत्या से जुड़े मामले की विस्तृत तफ्तीश करेगी।विदित हो कि खैरवार गोली कांड आज से करींब तीन वर्ष पूर्व 14 दिसंबर 2019 की दरमियानी रात को रेत माफियाओं द्वारा अंजाम दिया गया था,जिसमे एक युवक की जान गई थी,वही दो लोग गोली लगने से घायल हुए थे।घटना के बाद इस मामले में चंदिया पुलिस ने वर्ष 2019 के दिसंबर माह में अपराध क्रम 276/19 धारा 302,307,294,427,34 ताहि 25/27 आर्म्स एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया था,बाद में आरोपी पवन पाठक पर पुलिस ने 30 हजार का इनाम भी घोषित किया था,परन्तु पुलिस के लगातार प्रयास के बाद भी पिछले करींब तीन सालों से आरोपी पवन फरार रहने में कामयाब रहा है।बताया जाता है कि आरोपी गैंगस्टर पवन पर मध्यप्रदेश के अलावा महाराष्ट्र,उत्तरप्रदेश,छत्तीसगढ़ जैसे प्रदेशों में भी क़ई गम्भीर प्रकरण पंजीबद्ध है।

तीन साल से था फरार

चंदिया थाना अंतर्गत ग्राम खैरवार में खनिज सामग्री रेत के अवैध उत्खनन एवम परिवहन को लेकर दो पक्षों में विवाद हुआ था,विवाद इतना बढ़ा कि देर रात खैरवार गांव में क़ई राउंड गोलियां चलाई गई थी,इस गोली कांड में करकेली निवासी सतेंद्र पिता राम कुशल उपाध्याय की मौके पर मौत हो गई थी,साथ ही करकेली निवासी आलोक सिंह एवम उमरिया निवासी बीरेंद्र सिंह सेंगर गंभीर रूप से घायल हुए थे।इस गोली कांड के लगभग सभी आरोपियों को पुलिस ने कुछ महीने के अंदर गिरफ्तार कर लिया था,परन्तु पूरे घटना का मास्टरमाइंड एवम मुख्य आरोपी पवन पाठक घटना के बाद से ही फरार रहा है।खैरवार गोली कांड के मुख्य आरोपी पवन पाठक की गिरफ्तारी पुलिस की बड़ी कामयाबी के रूप में देखा जा रहा है।देखना होगा रिमांड अवधि में पुलिस इंवेस्टिगेशन के दौरान चर्चित खैरवार गोली कांड से जुड़े और  कौन से सच सामने आते है।इस मामले में एडीजीपी डीसी सागर ने कहा कि इस मामले में हमे उम्मीद है कि पुलिस अधीक्षक प्रमोद सिन्हा की टीम सम्मानीय न्यायालय में पर्याप्त साक्ष्य प्रस्तुत करने में कामयाब होगी,और पीड़ित परिजन को निश्चित ही न्याय मिलेगा।

ऐसी हुई गिरफ्तारी :

क्राईम ब्रांच की टीम को मुखबिर से सूचना मिली थी की थाना चंदिया जिला उमरिया में वर्ष 2019 में पंजीबद्ध अपराध धारा 302, 406 ,295, 447, 216, 34 भादवि  के आरोपी (1). पवन पाठक उर्फ शूटर पवन शर्मा पिता बद्रीप्रसाद पाठक निवासी– साउथ करौंदिया जिला सीधी (म. प्र.) उक्त प्रकरण उदघोषित ईनामी होकर घटना दिनांक से फरार था जिसे मुखबिर की सूचना पर त्वरित कार्यवाही करते हुए काईम ब्रांच इंदौर की टीम द्वारा उत्कृष्ट सूझबूझ से आरोपी को 03 किलोमीटर पीछा कर घेराबंदी करके पकड़ा ।

आरोपी से प्रारंभिक पूछताछ एवं अपराधिक जानकारी निकालते पता चला कि आरोपी के विरुद्ध 05 हत्या के अपराध सहित हत्या के प्रयास, लूट, अवेध वसूली, अपहरण,मारपीट, आर्म्स एक्ट, एनडीपीएस एक्ट जैसे कई गंभीर अपराध महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, छतीसगढ, मध्यप्रदेश राज्य में पहले से पंजीबद्ध है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button