मध्य प्रदेशस्टेट न्यूज

दो साल बाद भी नही चालू हो पाया नलजल योजना का कार्य विधायक ने लगाईं फटकार कहा विधानसभा में उठेगा मुद्दा

23 करोड़ की नल जल योजना को लगा रहे हैं पलीता,अधिकारी ठेकेदार की लापरवाही से 2 साल बाद भी निर्माण कार्य नहीं हुआ प्रारंभ,2023 में नागरिकों कराना था पेयजल के लिए नर्मदा का पानी उपलब्ध,विधायक कुणाल चौधरी बोले 10 दिन में काम नहीं किया तो विधानसभा मुद्दा उठाऊंगा

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा नगर पोलायकला के नागरिकों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो सके। इसी उद्देश्य को लेकर के जल संवर्धन योजना के तहत वर्ष 2021 में 23 करोड़ की योजना को स्वीकृति दी गई थी।

यह भी पढ़ें : महाकाल भस्मारती आज श्रावण मास का पहला दिन महाकाल मन्दिर में लगा भक्तो का ताँता।

दो साल बाद भी नही चालू हो पाया नलजल योजना का कार्य विधायक ने लगाईं फटकार कहा विधानसभा में उठेगा मुद्दा

यह भी पढ़ें : परमिट देने के बाद भी नही बंद की लाइन बिजली के तेज झटके के कारण गिरा जमीन पर

परंतु इस माहिती योजना को अधिकारी  ठेकेदार मिलकर पलीता लगाने में लगे हुए हैं। मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा JEW जै वी आदित्य सुराना निजी कंपनी इन्दौर को वर्ष 2021मे टेंडर देकर स्वीकृति जारी कर दि गई थी। परंतु 2 वर्ष बीत जाने के बाद भी अधिकारी ठेकेदार की लापरवाही के कारण कार्य प्रारंभ नहीं हो सका। इससे यह साफ जाहिर होता है कि अधिकारी व ठेकेदार शासन की महती योजना को धरातल पर लाना ही नहीं चाहते हैं। और और कहीं ना कहीं यहां 23 करोड़ की योजना दम तोड़ती हुई दिखाई दे रही है । जबकि शासन के द्वारा  वर्ष 2023 तक योजना को पूरा करके हर घर नल के माध्यम से पेयजल उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया था। परंतु ठेकेदार अधिकारियों की लापरवाही के कारण नगर पोलायकला के नागरिकों को नर्मदा का पानी 2023 उपलब्ध नहीं हो पायेगा।

यह भी पढ़ें : फर्जी पुलिसवाला बन रचा ली शादी दो दिन में ही खुल गई पोल पहुँच गए सलाखों के पीछे

विधायक ने कहा 10  दिन मे काम प्रारंभ नहीं हुआ तो मानसून सत्र में विधानसभा मुद्दा उठाऊंगा

कांग्रेस कालापीपल विधायक कुणाल चौधरी के द्वारा आरोप लगाते हुए कहा कि शासन के द्वारा मंच से घोषणा कि जाती है लेकिन अधिकारियों और ठेकेदारों को काम करने के लिए निर्देश नहीं दिए जाते हैं। इसी का नतीजा है कि आज मेरे विधानसभा क्षेत्र की नगर परिषद पोलायकला मे विगत 2 वर्षों से स्वीकृत 23 करोड़ की लागत से बनने वाले वाटर ट्रीटमेंट प्लांट निर्माण सहित पाइप लाइन का कार्य अधिकारी व ठेकेदार की मिलीभगत से नहीं हो पा रहा है। आज नगर परिषद में ठेकेदार व अधिकारियों को बुलाया गया था उन्हें फटकार लगाते हुए कहा कि कि अगर 10 दिन के अंदर कार्य प्रारंभ नहीं हुआ तो मानसून सत्र में यह मुद्दा विधानसभा में उठाऊंगा

यह भी पढ़ें : रेस्क्यू के दौरान 6 फीट लंबे सांप ने युवक को डस लिया माथे पर देखिए वीडियो

विधायक की फटकार के बाद में अधिकारियों ने किया स्थल निरीक्षण

सब्जी मंडी के समीप बनने वाले वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का स्थल निरीक्षण विधायक कुणाल चौधरी की फटकार के बाद में भोपाल से आए इंजीनियर विजय गुप्ता एम यूडी सी ने मौके पर पहुंचकर के अपनी पूरी टीम के साथ निरीक्षण किया परंतु सोचने वाली बात यहां है। कि आखिरकार अधिकारियों की नींद नेताओं की फटकार के बाद ही क्यों खुलती हैं ।जबकि आम आम नागरिकों को शासन के द्वारा सुविधा प्राप्त करने के लिए करोड़ों रुपए की योजनाएं बना करके संचलित करने का जुम्मा इन आला अधिकारियों पर रहता है। इसके बाद भी इन अधिकारियों को अपने कर्तव्य के प्रति चिंता नहीं रहती है इसका खामियाजा आम नागरिकों को भुगतना पड़ता है।

यह भी पढ़ें : 4 राज्यों के बदले गए प्रदेशाध्यक्ष क्या एमपी में आदिवासी नेता के हाथों में होगी संगठन की बागडोर

विधायक कुणाल चौधरी कालापीपल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि नगर परिषद के सभा कक्ष में ठेकेदार अधिकारियों की बैठक ली गई थी 2 वर्षों से वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माण का कार्य प्रारंभ नहीं किया गया इसी को लेकर दिशा निर्देश दिए गए हैं। इसके बाद भी कार्य प्रारंभ नहीं किया गया तो विधानसभा में मुद्दा उठाऊंगा

वहीँ विजय गुप्ता इंजीनियर एमपी यूडी सी भोपाल का कहना है कि वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का स्थल निरीक्षण किया गया है शीघ्र ही कार्य प्रारंभ किया जाएगा

यह भी पढ़ें : कलयुगी बाप ने दातों से काट कर मासूम का कान कर दिया था अलग हार गई जिन्दगी की जंग

आर्टिकल / मुकेश शर्मा 

ऐसी और जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमसे जुड़े

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Sanjay Vishwakarma

संजय विश्वकर्मा (Sanjay Vishwakarma) 41 वर्ष के हैं। वर्तमान में देश के जाने माने मीडिया संस्थान में सेवा दे रहे हैं। उनसे servicesinsight@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है। वह वाइल्ड लाइफ,बिजनेस और पॉलिटिकल में लम्बे दशकों का अनुभव रखते हैं। वह उमरिया, मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। उन्होंने Dr. C.V. Raman University जर्नलिज्म और मास कम्यूनिकेशन में BJMC की डिग्री ली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button