देश-विदेश

पुलिस हिरासत में बस में बैठी पहलवान संगीता फोगाट और विनेश की मुस्कुराती हुई फोटो फेक है या रियल

सोशल मीडिया पर 28 मई को नई संसद भवन तक मार्च करते हुए पुलिस हिरासत में लिए गए पहलवानों (Wrestlers Protest) की फोटो वायरल है. फोटो में पहलवान विनेश फोगाट, संगीता फोगाट मुस्कुराती दिख रही हैं.

28 मई को नई संसद भवन तक march करने के दौरान पुलिस की हिरासत में ली गई पहलवानों की पुलिस के साथ बस में बैठने के दौरान मुस्कुराती हुई फोटो वायरल की जा रही है, और फोटो को सोशल मीडिया में शेयर करके यह नैरेटिव प्रदर्शित किया जा रहा है कि महिला पहलवान वास्तव में प्रदर्शन को लेकर गंभीर नही है और पुलिस हिरासत को एन्जॉय कर रही रही हैं,और यह सब दिखावे के लिए किया जा रहा है. और इसके टूक किट का हिस्सा बताया जा रहा है. 

देखिए फोटो

पुलिस हिरासत में बस में बैठी पहलवान संगीता फोगाट और विनेश की मुस्कुराती हुई फोटो फेक है या रियल
Source : Social Media

असल में यह दावा ऐसे समय में किया जा रहा है जब दिल्ली में 28 मई को नए संसद भवन के उद्घाटन चल रहा था, और पूरा देश इस उद्घाटन में नजरे बनाए हुए था, ईसी मौके पर जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे पहलवानों ने जंतर मंतर से नए संसद भवन तक मार्च निकाला. मार्च के दौरान कई पहलवानों को गिरफ्तार किया गया था। कई ऐसे सीन भी सामने आ चुके हैं जिनमें पुलिस पहलवानों को खदेड़ती नजर आ रही है।और पहलवानों के साथ जोर जबरजस्ती की तस्वीरें देखने को मिली हैं.

खुद को ट्विटर बायो में फ़िल्ममेकर बताते हुए अशोक पंडित ने लिखा है कि आदरणीय राज जी सड़क पर ड्रामा करने के बाद यह इनका असली चेहरा ! यह एक टूल किट का हिस्सा बन चुके हैं जो अपने देश को तोड़ने का काम करते हैं ! देश का गर्व आज एक पतन पर है !

क्या वायरल फोटो असली नहीं : इस फोटो को ट्विटर में पोस्ट करने के बाद मानो इस फोटो की बाढ़ सी आ गई और दावा किया जाने लगा की वायरल फोटो असली नहीं है. पुलिस हिरासत में लिए गए पहलवानों की तस्वीरों को एक AI एप से एडिट कर उसमें ‘मुस्कान’ जोड़ी गई है. असली तस्वीर में पहलवान मुस्कुराते नहीं दिख रहे.

हमने इस सत्य की खोज कैसे की? : वायरल फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च करने पर हमें पत्रकार मनदीप पुनिया द्वारा मुस्कुराते हुए पहलवानों की तस्वीर शेयर किए जाने से कई घंटे पहले ट्वीट की गई तस्वीर मिली। इस फोटो में पहलवान मुस्कुराते हुए नहीं दिख रहे हैं।

अब सवाल था कि असल तस्वीर कौन सी है? एक जिसमें पहलवान हंस रहे हैं या एक जिसमें वे नहीं हैं।

 

अब सवाल था कि असल तस्वीर कौन सी है? एक जिसमें पहलवान हंस रहे हैं या एक जिसमें वे नहीं हैं।

हमने पहलवानों विनेश फोगट और संगीता फोगट की अन्य मुस्कुराती हुई तस्वीरें उनके सत्यापित सोशल मीडिया हैंडल पर देखीं। इन तस्वीरों के साथ देखिए वायरल हो रही तस्वीरें। यह पता चला है कि विनेश और संगीता दोनों वास्तव में मुस्कुराते हैं, लेकिन उनके चेहरे पर उस तरह के डिंपल नहीं हैं जो वायरल फोटो में दिख रहे हैं।

इसी तरह हमने वायरल फोटो में दिख रही रेसलर संगीता फोगाट की फोटो की तुलना उनकी मुस्कुराते हुए असली फोटो से की। जैसा कि वायरल फोटो में दिखाया गया है, उनके चेहरे पर कोई डिंपल नहीं है।

ट्विटर पर कुछ यूजर्स ने कहा कि फोटो को एआई एप्लीकेशन फेस ऐप से एडिट किया गया है। जब हमने इस ऐप पर ‘स्माइल’ फिल्टर का इस्तेमाल किया और इसे एक फोटो पर लगाया तो यह एक ऐसी फोटो बन गई जो वायरल हो रही थी।

Sanjay Vishwakarma

संजय विश्वकर्मा (Sanjay Vishwakarma) 41 वर्ष के हैं। वर्तमान में देश के जाने माने मीडिया संस्थान में सेवा दे रहे हैं। उनसे servicesinsight@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है। वह वाइल्ड लाइफ,बिजनेस और पॉलिटिकल में लम्बे दशकों का अनुभव रखते हैं। वह उमरिया, मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। उन्होंने Dr. C.V. Raman University जर्नलिज्म और मास कम्यूनिकेशन में BJMC की डिग्री ली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button