मध्य प्रदेशस्टेट न्यूज

पलंग में चढ़कर इंडियन कोबरा ने बनाया अपना शिकार भूतप्रेत का साया समझ करवाते रह गए झाडफूंक हुई मौत

सर्पदंश के कारण कक्षा 12वीं में अध्ययन रत आदिवासी छात्रा की मौत हो गई.पूरा मामला जिला मुख्यालय उमरिया से लगे ग्राम कछरवार का है जहाँ गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात बिस्तर में चढ़कर इंडियन कोबरा ने एक ग्राम कछरवार मंदिर टोला निवासी शानू बैगा एक कमरे में रखे पलंग में सोई हुई थी बगल की चारपाई में उसका भाई सोया हुआ था,शानू को 12 मई की सुबह तडके महसूस हुआ की उसे किसी मच्छर ने काटा है, इसलिए वह करवट बदलकर सो गई लेकिन कुछ समय बाद जब उसके पैर में झुनझुनाहत हुई तो उसने इसकी जानकरी बगल के कमरे में सो रहे अपने पिता को दी तब उसके पिता ने घर में रखे झंडू बाम को काटने वालें स्थान पर लगा दिया. लेकिन जैसे जैसे इंडियन कोबरा का जहर असर करने लगा तो तो शानू अजीबोगरीब हरकत करने लगी. परिजनों को लगा की शानू के ऊपर किसी प्रेत आत्मा का साया आ गया है जो उसे परेशां कर रहा है.जानकरी और जागरूकता के आभाव में परिजनों ने आसपास के किसी तांत्रिक को बुलवाकर झाड़फूक करवाना चालू कर दिया और सुबह होते होते शानू ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया.

पलंग में चढ़कर इंडियन कोबरा ने बनाया अपना शिकार भूतप्रेत का साया समझ करवाते रह गए झाडफूंक हुई मौत
झाड़फूक करवाते रह गए परिजन

घटना की सूचना दी गई पुलिस को

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस चौकी सिविल लाइन प्रभारी अमर बहादुर सिंह घटनास्थल पर पहुंचे तो उन्होंने काटे हुए स्थान पर देखा तो उन्हें पता चला की यह निशान किसी सर्प के काटने के है,इस दौरान मृतिका शानू का का भाई पलंग के बगल में चारपाई में सो रहा था,चौकी प्रभारी ने तत्काल उसे कमरे से बाहर निकाला और कमरे को बाहर से बंद कर सर्प मित्र गुलाब बैगा को बुलाकर बोरियों के पीछे छिपे इंडियन कोबरा का रेस्क्यू कर उसे जंगल में छोड़ दिया और चौकी प्रभारी अमर बहादुर सिंह ने पंचनामा उपरांत शव अपने कब्जे में लेकर पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है.

पलंग में चढ़कर इंडियन कोबरा ने बनाया अपना शिकार भूतप्रेत का साया समझ करवाते रह गए झाडफूंक हुई मौत
ईसी पलंग में बिस्तर में घुस गया था इंडियन कोबरा

बहन के साथ निकल जाती भाई की अर्थी

पलंग में चढ़कर शानू बैगा को मौत के घाट उतारने के बाद इंडियन कोबरा कमरे में ही घूम रहा था लेकिन घटनाक्रम के बाद भी शानू का भाई बगल की चारपाई में सो रहा था लेकिन जैसे ही चौकी प्रभारी ने सांप के द्वारा काटे जाने के लक्षण मृतिका के शरीर में देखे वैसे ही भाई को कमरे से बाहर तत्काल निकलवाया जिससे भाई की जान बच गई.

सांप के काटने के यह है लक्षण फर्स्ट एड के लिए करें ये काम

जिला चिकित्सालय उमरिया में पदस्थ डॉ एल एन रूहेला के मुताबिक़ सांप के काटने की पहचान करने के लिए सबसे पहले इस बात पर विचार करें कि घाव कैसा है। अगर घाव के आसपास सूजन और लाली है, काटने की जगह पर दर्द हो रहा है, सांस लेने मे तकलीफ है, उल्टी और मतली आ रही है, आंखों से साफ नहीं दिख रहा है, पसीना और लार आ रहा है, चेहरे और अंगों में सुन्नता है, दर्द बहुत ज्यादा है, मरीज की पलकें झुकी हुई हैं, ब्लड प्रेसर लो है, प्यास लगने के साथ थकान या मांसपेशियों में कमजोरी महसूस हो रही है तो समझ लीजिए कि ये सर्पदंश के लक्षण हैं।

सर्पदंश का पता चलने के बाद आप प्राथमिक उपचार के तहत ये कदम उठा सकते हैं। घाव को साफ करें, शांति बनाए रखें और दर्द को आगे नहीं बढ़ने दें। साथ ही जिस स्थान पर सर्प ने काटा है वहा एक कपड़ा बांध दें जिससे की जहर का असर अन्य अंगो तक न पहुच सके और साथ ही आपातकालीन उपचार के लिए मरीज को अस्पताल में भर्ती कराएं। समय पर इलाज होने की स्थिति में रिकवरी की संभावना काफी ज्यादा होती है।

क्यों घुसा कमरे में इंडियन कोबरा

दरअसल इन दिनों गेंहू और दलहन फसल की कटाई के दौरान अनाज को घर के कमरों में किसान रख रहे हैं और अनाज खाने के लिए चूहे भी चहलकदमी कर रहे हैं संभवत चूहे को अपना शिकार बनाने के लिए कमरे में इंडियन कोबरा घुसा होगा और बोरियां बिस्तर के नजदीक ही रखी हुई थी,इसलिए बोरियो के सहारे कोबरा बिस्तर में चढ़ गया और यह घटना घटित हो गई.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button