देश-विदेशमध्य प्रदेशस्टेट न्यूज

Mahashivratri 2024 : आज से शुरू होगा पंडित प्रदीप मिश्रा का रुद्राक्ष महोत्सव

  • भोपाल इंदौर हाईवे पर लगने वाले जाम से निजात पाने बनाया प्रशासन ने बनाया नया रूट
  • हर दिन करीब 5 लाख श्रद्धालुओं के आने का अनुमान
  • कथा के तीन दिन पहले से ही पंडाल में डेरा जमाए बैठे है श्रद्धालु

अंतरराष्ट्रीय कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा द्वारा अपने कुबेरेश्वर धाम पर लगातार विगत दो वर्षों से आयोजित किया जा रहा रुद्राक्ष महोत्सव इस बार भी आगामी 7 मार्च से प्रारंभ होने जा रहा है जिसे लेकर बिठलेश सेवा समिति और स्थानीय प्रशासन द्वारा सभी जरूरी व्यवस्थाएं जुटा ली गई है इस आयोजन में सबसे बड़ी परेशानी भोपाल इंदौर फोरलेन पर लगने वाले वाहनों का जाम है बीते सालों में आयोजित हुए रुद्राक्ष महोत्सव के दौरान देखने को मिला है कि वाहनों की बढ़ती संख्या के चलते फोरलेन पर जाम लग जाता है और घंटो वाहन एक ही जगह पर खड़े रहते हैं लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा आयोजन समिति और प्रशासन ने क्रिसेंट चौराहा से इछावर रोड स्थित भाऊखेड़ी से आमलाह वाले मार्ग सभी यात्री वाहनों को डाइवर्ट करने का प्लान तय किया है साथ ही भारी वाहनों को भोपाल से देवास के लिए भेजा जाएगा और इंदौर की ओर जो भारी वाहन जो भोपाल की तरफ जाएंगे उन्हें देवास के पास रोका जाएगा और देवास से इन वाहनों को ब्यावरा भेजा जाएगा जहां से यह श्यामपुर होते हुए भोपाल जाएंगे

300 एकड़ में होगी वाहनों की पार्किंग

रुद्राक्ष महोत्सव की भव्यता को देखते हुए इस बार प्रशासन द्वारा 150 एकड़ की जगह 300 एकड़ में वाहनों को खड़ा करने का प्लान बनाया गया है यातायात प्रभारी ब्रजमोहन धाकड़ ने बताया कि जो रोड प्लान तैयार किया गया है यह व्यवस्था 7 मार्च से शुरू होगी लेकिन उसके तय अनुमान से ज्यादा भीड़ आती है तो इसे बदला भी जा सकता है।

आधुनिक रसोई बनकर तैयार जिसमें एक बार में 50 हजार भक्त प्रसादी ग्रहण कर सकेंगे

आयोजित होने वाले रुद्राक्ष महोत्सव में 1 दिन में करीब 5 लाख श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है इस अनुमान के हिसाब से बिठलेश सेवा समिति द्वारा आधुनिक रसोई का निर्माण भी कराया गया है जहां फुली ऑटोमेटिक रोटी मेकर मशीन लगाई गई है साथ ही सब्जी बनाने वाली मशीन भी बाहर से बुलवाई गई है समिति के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि वैष्णो देवी और शिर्डी के मंदिर में जैसे आधुनिक रसोई बनाई गई है ठीक उसी तरह कुबेरेश्वर धाम में भी आधुनिक रसोई का निर्माण कराया गया है जहां एक बार में करीब 50 हजार भक्त एक साथ बैठ कर भोजन कर सकते है और एक दिन में अधिकतम 5 लाख भक्तो के लिए प्रसादी तैयार की जा सकती है।

कथा से पहले से ही भक्तों ने पंडाल जमाया डेरा

रुद्राक्ष महोत्सव और शिव महापुराण कथा का आयोजन कल से होगए लेकिन तीन दिन पहले से ही कथा पंडाल में भक्तों ने डेरा जमा लिया है भक्त अपने साथ सामान को लेकर कथा पंडाल में ही जमकर बैठ चुके हैं ऐसे में कथा शुरू होने के 3 दिन पहले से ही कथा पंडाल भक्तों से खचाखच भर चुका है जानकारी के लिए बता दे की कुंबेरेश्वर धाम में प्रतिदिन करीब एक लाख से ज्यादा श्रद्धालु रुद्राक्ष महोत्सव के पहले ही दर्शन को पधार रहे हैं ऐसे में रुद्राक्ष महोत्सव के दौरान भक्तों की संख्या का अनुमान लगा पाना काफी कठिन है क्योंकि रुद्राक्ष महोत्सव के शुरू होने से पहले जब इतनी संख्या में भक्ति दर्शन को आ रहे हैं तो रुद्राक्ष महोत्सव के दौरान हर वर्ष की तरह वर्ष भी भक्तों की संख्या अनगिनत हो सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker