क्राइममध्य प्रदेशस्टेट न्यूज

लाड़ली बहना योजना : सीएससी संचालक पर FIR करने कलेक्टर ने दिए निर्देश

ई-केवाईसी के बदले शुल्क वसूलने वाले सीएससी सेंटर संचालक पर प्राथमिकी दर्ज करने निर्देश शिकायत पर कलेक्टर ने एसडीएम से कराई जांच

लाड़ली बहना योजना : राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री लाड़ली बहना  योजना के तहत ई-केवाईसी करने के बदले सीएससी सेंटर द्वारा शुल्क वसूलने की शिकायत सामने आने पर कलेक्टर कटनी अवि प्रसाद द्वारा तत्काल एस डी एम विजयराघवगढ़  से जांच कराई गई। जांच में शिकायत सही पाए जाने पर सलैया सिहोरा के सीएससी सेंटर संचालक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराए जाने की कार्यवाही की जा रही  है।

यह भी पढ़ें : मध्यप्रदेश में बाघों की संख्या जाएगी 700 के पार हम  फिर बनेगे टाईगर स्टेट – वनमंत्री विजय शाह

Photo : Social Media

सलैया सिहोरा के सीएससी सेंटर का मामला

बरही के ग्राम सलैया सिहोरा में संचालित सीएससी सेंटर में लाड़ली बहना योजना की आवेदिकाओं से ई-केवाईसी करने के बदले 50 -50 रुपए शुल्क वसूला जा रहा था। जिसकी शिकायत कलेक्टर अवि प्रसाद तक पहुंची।

एसडीएम ने की जांच, लिए कथन

कलेक्टर अवि प्रसाद के निर्देश पर  एस डी एम महेश मंडलोई द्वारा सीएससी सेंटर पहुंच कर जांच की गई। पीड़ित महिलाओं और सीएससी सेंटर संचालक शुभम रजक पिता संतलाल रजक निवासी ग्राम सलैया सिहोरा के कथन दर्ज किए गए। सीएसी सेंटर संचालक शुभम रजक ने भी ई-केवाईसी के बदले शुल्क लेने की बात स्वीकार की है।

Photo : Social Media

शासन के निर्देशों की अवहेलना

उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश शासन के स्पष्ट निर्देश हैं कि लाड़ली बहना योजना अंतर्गत ई-केवाईसी के बदले  किसी भी प्रकार का शुल्क न लिया जाए। सीएसी सेंटर संचालक शुभम रजक द्वारा शासन के निर्देश की स्पष्ट अवहेलना की जा रही थी। जिस पर एसडीएम श्री मंडलोई ने आरोपित शुभम रजक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने थाना प्रभारी बरही को पत्र प्रेषित किया है।

Artical by नीरज तिवारी

Follow me on facebook 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button