लाइफ स्टाइल

खबरीलाल के Majedar Joks : संता के हाथ और पैर पर पट्टी बंधी हुई थी… बंता- क्या हुआ भाई?……

आजकल तो लोग रोजमर्रा के जीवन में इतने व्यस्त हो गए है कि हसना भूल ही गए हैं,हसने से न केवल सिर्फ तनाव कम होता है बल्कि शरीर स्वास्थ्य भी रहता है यही नही आजकल तो हसाने के लिए लाफिंग क्लब भी बड़े बड़े शहरों में बनाए जा रहे है जहा लोग मोटी मोटी फीस देकर हसने के लिए जाते है , हंसने के लिए आपको अलग से समय निकालने की जरूरत नही है अपने काम को जो आप कर रहे है उसे ही अपना पैसन मानकर करिए और पढ़िए खबरीलाल के कुछ चुटकुले जिन्हें आप पढ़ते ही खिलखिलाकर हस पड़ेगे…

 

गट्टू – पापा मेरे लिए एक डीजे खरीद दो।

पापा- मैं नहीं खरीदूगा … तुम डीजे बजाकर लोगों को परेशान करोगे

गट्टू – नहीं पापा, मैं किसी को परेशान नहीं करूंगा,

मैं तभी बजाऊंगा जब सब सो रहे होंगे।

पापा गट्टू को गुस्से से देख रहे थे.

 

 

दो दोस्त आपस में बात कर रहे हैं…

पिंटू  – कुछ लड़कियाँ बहुत बुद्धिमान होती हैं,

मिंटू  – हाँ… जब लड़कियाँ फ़्लर्ट करती  हैं तो वह उन्हें गाली नहीं देती, वह सीधे कहती है “भाई”!!

 

 

 

संता के हाथ और पैर पर पट्टी बंधी हुई थी.

बंता- क्या हुआ भाई?

संता- मैं तो बदमाशी करने लगा.

बंता- तो?

संता – मैंने एक आदमी से कहा था कि उसके पास जो कुछ भी है उसे बाहर फेंक दे।

उसने एक देसी कट्टा निकाला और मेरी कनपटी पर रख दिया.

 

पुलिस- तुमने एक ही दिन में दो बार चोरी क्यों की?

चोर ने सिर्फ एक दिन चोरी की, अगले दिन सूट का रंग बदलने चला गया.

 

 

 

पंडितजी ने कुंडली मिलायी.

36 में से 36 अंक प्राप्त किए।

लड़कों ने मना कर दिया.

लड़कियाँ हैरान होकर पूछने लगीं।

जब सब गुण तुझसे मिलें

तुम मना क्यों कर रहे हो?

लड़के- हमारा लड़का बिल्कुल पागल है।

अब तुम उसके जैसी दुल्हन ले आये?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: NWSERVICES Content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker