मध्य प्रदेशराजनीतिस्टेट न्यूज

भगवान बिरसा मुंडा के जन्मदिन पर शहडोल में आयोजित होगा राज्यस्तरीय गौरव दिवस कार्यक्रम पेसा अधिनियम को लेकर मुख्यमंत्री ले सकते हैं बड़ा फैसला

कार्यक्रम के दौरान संपूर्ण स्वास्थ्य कार्यक्रम का होगा शुभारम्भ, जेईई, नेट और क्लेट में सफल विद्यार्थियों का किया जाएगा सम्मान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने  15 नवम्बर को आदिवासी गौरव दिवस मनाने की तैयारियों का जायजा लिया. दोपहर 2 बजे से कार्यक्रम होंगे। इससे पहले 89 आदिवासी बहुल विकास प्रखंडों में दोपहर एक से दो बजे तक कार्यक्रम होंगे. गौरतलब है कि भगवान बिरसा मुंडा के जन्म दिवस पर प्रदेश में आदिवासी गौरव दिवस के कार्यक्रम भव्य तरीके से आयोजित किए जा रहे हैं. पिछले साल 15 नवंबर को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भोपाल आए थे और जम्बूरी मैदान में आदिवासी गौरव दिवस को संबोधित किया था। इस वर्ष राज्य में आदिवासी समुदाय के लोगों की उपस्थिति में उत्साह और गर्व के साथ कार्यक्रम का आयोजन किया गया है.

शहडोल :मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आदिवासी गौरव दिवस का यह क्रांतिकारी कार्यक्रम होगा. यह कार्यक्रम खुशी की अभिव्यक्ति का होगा। राज्य के आदिवासियों को पेसा अधिनियम क्या है और इसके लाभों के बारे में सूचित किया जाएगा। राज्य में आदिवासी सशक्तिकरण के प्रयासों की विस्तृत जानकारी आदिवासी योजनाओं के लाभों का वर्णन करते हुए दी जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आदिवासी गौरव दिवस कार्यक्रम के लिए शहडोल एवं अन्य स्थानों पर आवश्यक व्यवस्था की जाये. पिछले साल आदिवासी गौरव दिवस पर आदिवासी कल्याण के लिए की गई अधिकांश घोषणाएं फलीभूत हुई हैं। राज्य सरकार का संकल्प है कि पेसा अधिनियम के माध्यम से राज्य में आदिवासी कल्याण और विकास कार्यों को सामंजस्यपूर्ण तरीके से लागू करने के लिए प्रदेश सरकार कटिबद्ध हैं.

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से कलेक्टर्स को संबोधित भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राज्य के 89 विकासखंड के कार्यक्रम की व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जनजातीय कार्य मंत्री सुश्री मीना सिंह, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस के साथ विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कलेक्टर को संबोधित भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश के 89 विकासखण्डों के कार्यक्रम की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये. जनजातीय कार्य मंत्री सुश्री मीना सिंह, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

ये होंगे राज्य स्तरीय कार्यक्रम के पैरामीटर

शहडोल में होने वाले राज्य स्तरीय कार्यक्रम के कई अहम आयाम होंगे. आदिवासी विकास की कहानी बयां करती प्रदर्शनी लगाई जाएगी। जिसमें कई आदिवासी लोकनृत्य देखने को मिलेंगे। एकलव्य घनसोर के छात्र बैगा नृत्य करेंगे। पुलिस बैंड की ओर से संगीतमय प्रस्तुति दी जाएगी। संपूर्ण स्वास्थ्य कार्यक्रम का उद्घाटन और जेईई, नेट और क्लैट के सफल छात्रों को भी सम्मानित किया जाएगा। भगवान बिरसा मुंडा स्वरोजगार एवं तांत्या मामा आर्थिक कल्याण योजना के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र जारी किये जायेंगे। इस कार्यक्रम में केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते सहित कई जन-प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button