राजनीति

Loksabha Election 2024 : क्या दिग्विजय सिंह का गढ़ राजगढ़ लोकसभा से रोडमल नागर लगा पाएँगे जीत की हैट्रिक

राजगढ़ लोकसभा से दो बार से लगातार जीत रहे रोडमल नागर पर तीसरी बार फिर बीजेपी ने विश्वास जताया है क्या हेट्रिक से रोक पाएगी कांग्रेस नागर को?

Loksabha Election 2024 : राजगढ़ लोक सभा सीट पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का गढ़ माना जाता है पर इस बार लोकसभा की आठ में से छः बीजेपी के पास जबकि दो कांग्रेस के पास है, राजगढ़ लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र भारत के मध्य प्रदेश राज्य के 29 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में से एक है ।यह निर्वाचन क्षेत्र पूरे राजगढ़ जिले और गुना और आगर मालवा जिलों के कुछ हिस्सों को कवर करता है। शुरुआती दो चुनावों में, 1952 और 1957 में, यह राजगढ़-शाजापुर संसदीय क्षेत्र का हिस्सा था. इस दौरान, एक सांसद अनारिक्षत वर्ग से और दूसरा आरिक्षत वर्ग से चुना जाता था. कांग्रेस के लीलाधर जोशी 1952 और 1957 में लगातार दो बार आरिक्षत वर्ग से सांसद चुने गए थे. 1957 में, भागू नंदू मालवीय भी अनारिक्षत वर्ग से सांसद बने थे.

विधान सभा क्षेत्र चाचोडा, राघोगढ़,नरसिंहगढ़, ब्यावरा, राजगढ़, खिलचीपुर,सारंगपुर, सुसनेर इस लोकसभा क्षेत्र को 1962 में स्थापित किया गया है राजगढ़  लोकसभा क्षेत्र को कांग्रेस का गढ़ माना जाता रहा है 1962 से 1980 तक जनसंघ रही फिर यह से कांग्रेस 1984 के बाद से 2004 तक कांग्रेस रही 2004 से 2009  बीच में बीजेपी से लक्ष्मण सिंह सांसद रहे फिर से 2009 के लोकसभा के चुनाव में फिर से कांग्रेस  ने जीत हाशिल की वही अब 2014 से अब तक बीजेपी का दबदबा बना हुआ है

सबसे ज्यादा यहां से पाँच बार लक्ष्मण सिंह  सांसद रहे हैं चार बार कांग्रेस से और एक बार बीजेपी से और दूसरी बार से रोडमल नागर सांसद है एक बार फिर 2024 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी बनाया है।उनकी खुद की विधानसभा और ग्रह ग्राम भी इसी लोकसभा क्षेत्र में आता है। इसलिए राजगढ़ को उनका गृह संसदीय क्षेत्र भी कहा जाता है।

राजगढ़ सीट पर जीतने वालों का इतिहास

  • 1952- लीलाधर जोशी, कांग्रेस
  • 1957- लीलाधर जोशी, कांग्रेस
  • 1962 – भानु प्रकाश सिंह , स्वतंत्र
  • 1967 – बाबू राव पटेल, भारतीय जनसंघ
  • 1971 – जगन्नाथराव जोशी, भारतीय जनसंघ
  • 1977 – वसंत कुमार पंडित , जनता पार्टी भारतीय जनसंघ
  • 1980 – वसंत कुमार पंडित, जनता पार्टी भारतीय जनसंघ
  • 1984 – दिग्विजय सिंह , भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • 1989 –प्यारे लाल खंडेलवाल , भारतीय जनता पार्टी
  • 1991 – दिग्विजय सिंह, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • 1994 – लक्ष्मण सिंह , भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • 1996 – लक्ष्मण सिंह , भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • 1998 – लक्ष्मण सिंह , भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • 1999 – लक्ष्मण सिंह , भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • 2004 – लक्ष्मण सिंह , भारतीय जनता पार्टी
  • 2009 – नारायण सिंह आमलाबे ,भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • 2014 – रोडमल नागर ,भारतीय जनता पार्टी
  • 2019 –  रोडमल नागर ,भारतीय जनता पार्टी

 

2019 परिणाम

2019 भारतीय आम चुनाव : राजगढ़

  • बीजेपी – रोडमल नागर – 823,824
  • कांग्रेस – मोना सुस्तानी  – 3,92,805
  • एसएसएमपी – जगदीश सिंह परमार – 9,396
  • नोटा- इनमे से कोई भी नहीं – 10,375

2014 परिणाम

2014 भारतीय आम चुनाव : राजगढ़

  • बीजेपी – रोडमल नागर – 5,96,727
  • कांग्रेस – नारायणसिंह आमलाबे  – 3,67,990
  • बसपा–डॉ. शिवनारायण वर्मा – 13,864
  • नोटा- इनमे से कोई भी नहीं – 10,292

2009 परिणाम

2009 भारतीय आम चुनाव : राजगढ़

  • कांग्रेस – नारायणसिंह आमलाबे – 3,19,371 बीजेपी – लक्ष्मण सिंह – 2,94,983
  • स्वतंत्र–लक्ष्मणसिंह आमडोर  – 11,311

जाति का समीकरण क्या है

जहां तक राजगढ – गुना लोकसभा क्षेत्र की बात करें तो 8 विधानसभाओं की कुल जनसंख्या 24 लाख 89 हजार 435 है जिसमें से 81.39 प्रतिशत ग्रामीण आबादी है एवं 18.61प्रतिशत शहरी । इसमें एससी 18.68 प्रतिशत एवं एसटी के 12.32 प्रतिशत लोग निवास करते है। इस लोकसभा पर सबसे ज्यादा आबादी ओबीसी वर्ग की है इसमें भी 10-10 प्रतिशत आबादी दांगी-सौंधिया एवं 7 प्रतिशत मुस्लिम, 6 प्रतिशत गुर्जर ,7 प्रतिशत यादव,5 प्रतिशत राजपूत,6 प्रतिशत वैश्य एवं 30 प्रतिशत अन्य समाज व वर्ग से संबंधित हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker