क्राइममध्य प्रदेशस्टेट न्यूज

कस्तूरबा होस्टल की छात्रा के Boy Friends ने छात्रावास की महिला कर्मचारी की कर दी हत्या ऐसे हुआ खुलासा

8 फरवरी को सोनकच्छ में स्थित कस्तूरबा होस्टल (महिला छात्रावास) में काम करने वाली महिला की कार से कुचलकर हत्या का मामला,

देवास पुलिस ने सोनकच्छ के लिंक रोड पर हए अंधे क़त्ल का किया खुलासा

एसपी संपत उपाध्याय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया खुलासा,,

महिला निशा कानूनगो ने होस्टल की छात्रा राधिका के फ्रेंड को मिलने से रोका तो 3 दोस्तों ने प्लानिंग कर के करदी हत्या,

थाना सोनकच्छ के लिंक रोड पर हुए अंधे क़त्ल का खुलासा, स्विफ्ट डिज़ायर से राधिका के दोस्त अरुण व अभिषेक को गिरफ्तार कर स्विफ्ट कार पुलिस ने की जब्त,

दरअसल 8 फरवरी को सोनकच्छ के कस्बा के नया बायपास लिंक रोड पर गार्डन के पीछे एक महिला का एक्सीडेंट हो जाता है। सूचना पर पुलिस मौका मुआयना करती है। और जांच शुरू करती है। जांच में अलग-अलग एंगल व सीसीटीवी देखने के बाद पुलिस इस मामले में महिला की हत्या होना पाती है।

पुलिस यह पता लगाने में जुटी थी कि महिला की हत्या आखिर की किसने है। पुलिस इसके अलग-अलग एंगल ढूंढती है और महिला छात्रावास से जुड़ा ही इसका मामला निकलता है। जिसमें सीसीटीवी में देख कर की पुष्टि कर पुलिस उन लोगों तक पहुंचती है और पता चलता है कि राधिका नाम की लड़की जिसे हॉस्टल में मिलने कुछ लड़के वहां पर आते थे जिन्हें निशा कानूनगो द्वारा मना किया गया था।

इस बात को अरुण, अभिषेक व राधिका सीरियसली ले लेते हैं। और फिर महिला की हत्या की प्लानिंग करते हैं जिसके बाद वह कर से कुचलकर इस एक्सीडेंट का रूप देने की कोशिश करते हैं लेकिन पुलिस मामले को समझ के हत्या का खुलासा 6 दिन बाद ही कर देती है।

पुलिस के अनुसार: 8.02.24 के सुबह 7 बजे करीबन सोनकच्छ क़स्बा के नया बायपास लिकं रोड सेठी गार्डन के पीछे रोड पर एक महिला के एक्सीडेट होने की सूचना मिलने पर तत्काल थाना प्रभारी सोनकच्छ श्यामचन्द्र शर्मा मय फोर्स के घटनास्थल पहुंचे जहाँ एक महिला का किसी वाहन से एक्सिडेंट होने से मुत्यु हो गुई थी।

मृतिका की पहचान सोनकच्छ निवासी निशा कानूनगो के रुप में हुई। जनता के सहयोग से मृतिका को सोनकच्छ जिला अस्पताल लाया गया। जहाँ डॉक्टरो की टीम के द्वारा निशा काननगो को मृत  घोषित कर दिया। जिस पर से थाना सोनकच्छ पर मर्ग क्रमांक 2/24 धारा 174 जा.फौ का कायम कर विवेचना शुरु की गई उत्त घटना की सूचना थाना प्रभारी सोनकच्छ द्वारा तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों की दी।

प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए पुलिस आधीक्षक देवास सम्पत उपाध्याय के द्वारा अतिरिक्त पुलिस.अधीक्षक देवास जयवीर सिंह भदौरिया व अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) सोनकच्छ पी.एन. गोयल के निद्देशन में 02 विशेष टीमो का गठन किया गया । टीम कि द्वारा तकनीकी साक्ष्य, भौतिक साक्ष्य एवं मुखबिर तंत्र सक्रिय किये गये ।

तकनीकी साक्ष्य, भौतिक साक्ष्यों के आधार पर आरोपियों को पकडकर प्रारंभिक पूछताछ क़रने पर पर घटना कारित करना स्वीकार किया है। पुलिस ने संफ़ेद रंग की एक बिना नम्बर की स्विफ्ट डिजायर कार, तीन मोबाइल बरामद की है। आरोपी अरुण गुर्जर उर्फ अनोक पिता अमर सिंह गुर्जर 21 साल निवासी गुराडिया गुर्जर, अभिषेक अंसल पिता हरि सिंह अंसल जाति गुर्जेर उम्र 21 साल निवासी गुराडिया गुर्जर, राधिका पितों मोड सिंह गुर्जर म्रं 19 साल निवासी खोकरिया थाना हाटपीपल्या को गिरफ्त में लिया गया है।

 उपरोक्त सराहनीय कार्य में निरी.श्यामचंद्र शर्मा थाना प्रभारी सोनुंक्छ निरी.रविन्द्र यादव थाना प्रभारी विजयगंज मंडी ,उनि. आरके शर्मा, उनि ज्योति पाटीदार उनि.राजेंद्र बरेठा थाना सोनकच्छ, सउनि. जफ़र खान,आर.राकेश गुर्जर, सुभाष, संजय राठोर थाना विजयगंज़ मंडी,विकास राजावत, सत्येन्द्र, श्याम बिहारी, सुधीर,लक्ष्मण,म.आर.नेंहा,सग्न,संध्या, सै. मांगीलाल थाना,सोनकच्छे, उनि राकेश नरबरिया, प्र. आर, सचिन चौहान, शिवप्रताप सिंह,आर.योगेश कंदम साइबर सेल देवास का सराहनीय योगदान रहा। पुलिस अधीक्षक देवास द्वारा 10,000/-रु नगद ईनाम की घोषणा की गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker