मध्य प्रदेशवाइल्ड लाइफस्टेट न्यूज

जुट्टा तलैया वाली बाघिन के एक शावक मौत पढ़िए बाघ ने क्यों मारा शावक को

टाइगर रिजर्व के पनपथा बफर के बिरुहली बीट के कक्ष क्रमांक 406 जुट्टा तालाब के पास सांदिग्ध परिस्थिति में 3 माह के शावक का शव 3 अप्रैल की दोपहर 12 से 1 बजे के पासपास मिला है। पनपथा बफर परिक्षेत्र के परिक्षेत्र अधिकारी एस एस श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए बताया की भदार नदी और जुट्टा तालाब के आसपास जुट्टा वाली बाघिन डेढ से 3 माह के बीच के चार शावकों के साथ पाई जाती थी,साथ ही वन अमले को 20 से 25 मार्च के बीच अपने चारों शावकों के साथ नजर भी आई थी. लेकिन 28  से 30 मार्च के बीच मेल टाईगर की ग्राऊलिंग की आवाज आ रही थी, संभवत यह टाइगर जाजागढ़ के जंगल से पानी पीने के उद्देश्य से भदार नदी के एरिया में आया होगा और इनका आमना सामना हो गया होगा जिससे उसने शावक पर हमला कर दिया होगा. हालाकिं बात की आधिकारिक पुष्टि इस बात से की गई हैं जब शावक का शव उक्त क्षेत्र में मिला तब डॉग स्क्वायड के माध्यम से पूरे एरिया की सर्चिंग भी की गई और शावक के शव के चारो तरफ बाघ के पगमार्क के निशान भी मिले हैं. हालाकिं नर बाघ की मौजूदगी के बाद उस क्षेत्र में जुट्टा तलैया वाली बाघिन और उसके शावक नजर नही आए. प्रबंधन जुट्टा तलैया वाली बाघिन और उसके तीन शावकों को ढूढने में जुट गया है.

बाघ ने क्यों मारा शावक को

अब आपके जेहन में एक बात जरुर आ रही होगी की एक वयस्क बाघ भला 3 माह के शावक की जान क्यों लेगा तो इसके पीछे का कारण वाइल्ड लाइफ एक्सपर्ट्स यह बताते हैं कि बाघ किसी शावक पर दो कारणों से हमला करता है पहला यह की जब उक्त शावक उसकी संतान नही होती तो बाघ उसे देखते ही मारने की कोशिस करता हैं,क्योकि बड़ा होकर वह उसे चैलेन्ज करेगा या उसकी टेरिटरी पर अपना कब्ज़ा करेगा इस कारण बाघ उसे बड़ा होने से पहले ही मार देता हैं,दूसरा कारण यह हैं की बाघिन के साथ जब नन्हे नन्हे शावक होते हैं तो वह मेटिंग के लिए तैयार नही होती तब भी बाघ यदि उन शावकों का पिता नही हैं तो उन्हें मौत के घाट उतार देता है.

कमजोर शावक को माँ नही पिलती दूध

जैसा की आपको पता हैं की जंगल में “स्वस्थतम की उत्तरजीविता” (सर्वाइवल ऑफ द फिटेस्ट) के सिधांत पर चलता है मतलब जो ताकतवर हैं वही जिन्दा रहेगा इस कारण बाघिन के पास यही चार शावक हैं और चारों में यदि एक शावक कुपोषित हैं तो मां उसे दूध नही पिलाती है . उसके हिस्से का दूध वह उन मजबूत शावकों को पिलाती हैं जो आगे चलकर जंगल में अपनी बादशाहत कायम करेगें.

कैमरे में कैद हुआ बाघ

पनपथा बफर परिक्षेत्र के परिक्षेत्र अधिकारी एस एस श्रीवास्तव ने बताया की बांधवगढ़ टाइगर रिज़र्व में इन दिनों टाईगर सेन्सस को लेकर जगह जगह ट्रैपिंग कैमरे लगाए गए हैं उन्ही कैमरों में एक नर बाघ घटना दिनांक के आसपास कैद हुआ है, आशंका व्यक्त की जा रही है की ईसी डोमिनेंट बाघ ने शावक को मौत के घाट उतार दिया होगा.

Article By Sanjay Vishwakarma

Sanjay Vishwakarma

संजय विश्वकर्मा (Sanjay Vishwakarma) 41 वर्ष के हैं। वर्तमान में देश के जाने माने मीडिया संस्थान में सेवा दे रहे हैं। उनसे servicesinsight@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है। वह वाइल्ड लाइफ,बिजनेस और पॉलिटिकल में लम्बे दशकों का अनुभव रखते हैं। वह उमरिया, मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। उन्होंने Dr. C.V. Raman University जर्नलिज्म और मास कम्यूनिकेशन में BJMC की डिग्री ली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker