राजनीति

मीसाबंदियों को मिलेगी 30 हजार रुपए सम्मान निधि जिस थाने में सीएम पिटे आज उसी नए पुलिस स्टेशन का किया उद्घाटन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस और गांधी परिवार पर हमला बोला है. सीएमए ने कहा कि वह भी एक स्वतंत्रता सेनानी हैं, जब किसी पर सत्ता का जुनून सवार होता है तो वह सब कुछ भूल जाता है। आपातकाल के दौरान यही हुआ, अपने आप को बनाकर रखने के लिए संविधान का  गला घोंटा गया। ये सब अंग्रेजों और मुगलों की तरह किया गया. सीएम शिवराज ने कहा कि एक परिवार को सत्ता में रहना है. जब इंदिराजी को लगा कि फैसला उनके खिलाफ है तो उन्होंने सत्ता में बने रहने के लिए लोकतंत्र को नष्ट कर दिया। सीएम शिवराज ने यह बात आज सीएम हाउस में डेमोक्रेटिक फाइटर मिसबंदी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही.

 यह भी पढ़ें : Baba Bageshwar : मूसलाधार बारिस के बीच बागेश्वर बाबा खोलते रहे पर्चे एक भक्त की खुली पोल तो मांग ली माफ़ी

मुख्यमंत्री ने कहा हिम्मत के कारण जुटे रहे,लट्ठ पड़ते रहे, बच्चों के भूखे मरने की नौबत आ गई। कांग्रेस को दया नहीं आयी। आपने देश की आज़ादी की लड़ाई लड़ी।15 महीने के लिए आए थे तो हम पर हमला किया। सीएम ने कहा कि सम्मान वो सबसे पहले छीनते है, एक परिवार को खुश करना इनका लक्ष्य है। जिनको लोकतंत्र से कोई मतलब नहीं , इनसे दूर रहना है, ये झूठ बोलकर सत्ता में आना चाहते है। सीएम ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि कांग्रेस को कभी सत्ता में नहीं आने देने का संकल्प लेना है, ये लोकतंत्र के नहीं है।

यह भी पढ़ें : Personality Test : आपको पहले क्या दिखा पेड़ या चेहरा पढ़िए आपकी पर्सनैलिटी का राज

सीएम शिवराज ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा कि आज लोग विदेश जाकर देश की आलोचना करते हैं, पीएम की आलोचना करते हैं. मैं पूछना चाहता हूं, मोदी जी ने देश का मान बढ़ाया, आपने क्या किया, आपके परिवार ने सत्ता में रहते हुए क्या किया। इस बीच, सीएम ने कहा कि वह हबीबगंज पुलिस स्टेशन में रात भर रहे, आज नए पुलिस स्टेशन का उद्घाटन किया । जब मुझे पीटा जा रहा था तो मेरे मुंह से निकला- मत मारो, हमारी सरकार भी आ जायेगी. तभी वहां मौजूद एक अधिकारी ने कहा, क्या आपकी संघियों की सरकार आएगी? बोतले है जब आएगी तो मैं इस्तीफा दे दूंगा. सीएम ने कहा कि बाद में वह अधिकारी मुझसे मिले और माफी भी मांगी.

यह भी पढ़ें : Aaj Ka Rashifal 26 June 2023: इन 5 राशि के जातकों का आज खुलेगा किश्मत का ताला जानिए मेष से लेकर मीन राशि का राशिफल

मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा

इसके साथ ही कार्यक्रम के दौरान मंत्री इंदरसिंह परमार ने कांग्रेस पर भी हमला बोला और कहा- वह दिन लोकतंत्र में काला दिन था. इंदिरा गांधी ने इस देश के लोकतंत्र को खत्म करने की कोशिश की. ये लोकतंत्र की हत्या नहीं थी, इंदिरा गांधी नहीं चाहती थीं कि देश का मुखिया आगे बढ़े, पूरे देश में अत्याचार हो रहे थे. लोगों पर अत्याचार किया गया. इंदिरा गांधी ने मेसन को नुकसान पहुंचाने का काम किया. मंत्री ने कहा कि आपकी वजह से आज हमारा विचार दुनिया का सबसे शक्तिशाली विचार बन गया है, इसलिए भारत की ताकत बढ़ी है. हेडगेवार और श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने देश की सत्ता की जो यात्रा शुरू की, वह आज भी जारी है.

यह भी पढ़ें :  पीएम मोदी के दौरे सबंधी व्यवस्था का जायजा लेने पहुंचे सीएम का दिखा अलग अंदाज पूछे अम्मा कैसे दिए जामुन

सीएम शिवराज ने मीसाबंदियों के कार्यक्रम की ये बड़ी घोषणाएं

  • मीसाबंदियों की पेंशन को बढ़ाकर 30 हज़ार करने की घोषणा, पहले मिलती थी 25000 हज़ार की राशि।
  • -जिन्हें  5 हज़ार सम्मान निधि मिलती थी उन्हें अब 8 हज़ार सम्मान निधि मिलेगी ।
  • -दिवंगत सेनानियों के परिवार को दी जाने वाली निधि 8 हज़ार से बढ़कर 10 हज़ार किया जाएगा।
  • -जो शेष हैं मीसाबंदी उन्हें ताम्रपत्र से 15 अगस्त को किया जाएगा सम्मानित।
  • नई दिल्ली के मप्र भवन में उनके लिए स्वतंत्र संग्राम सेनानियों की तरह होगी रुकने की व्यवस्था।
  •  एमपी के सभी जिलों में विश्राम गृह में 2 दिन तक 50% शुल्क के साथ रुकने की होगी व्यवस्था।
  • किसी भी तरह की बीमारी हुई तो संपूर्ण इलाज कराएगी मप्र सरकार।
  • लोकतंत्र सेनानियों के परिचय पत्र एक बार और चर्चा कर के फाइनल किया जाए ताकि उन्हें कहीं आने जाने में न हो परेशनी।
  •  सरकारी ऑफिसों में भी दिए जाएंगे निर्देश सम्मानजनक व्यवहार किया जाए।

यह भी पढ़ें : लाड़ली बहना योजना की हितग्राही बहनों को मिल सकते है एक्स्ट्रा 5000 रुपए जानिए कैसे

यह भी पढ़ें : बेटी के लिए लाचार पिता ने शुरू किया भीख मांगो अभियान जानिए क्या है पूरा मामला

यह भी पढ़ें : सहारा क्रेडिट समितियों के निवेशकों की पहचान को लेकर भारत सरकार ने जारी किया ये बड़ा गजट नोटिफिकेशन

यह भी पढ़ें :  कालीसिंध नदी में मिला भारतीय सेना के जवान का हाथ बंधा हुआ शव

यह भी पढ़ें :  90 पेटी कैश के साथ पकड़ा गया नोट छापने वाला अधिकारी, शर्ट और जूते में छिपाकर घर ले जाता था नोटों का बंडल

ऐसी और जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमसे जुड़े

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button