स्टेट न्यूजमध्य प्रदेश

संदेशखाली मामले में उमरिया में हिंदू जागरण मंच ने 3 सूत्रीय मांगों का सौंपा ज्ञापन – MP NEWS

हिंदू जागरण मंच उमरिया ने संदेशखाली की घटना को लेकर 3 सूत्रीय मांगों का राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

हिंदू जागरण मंच के सैकड़ो की संख्या में कार्यकर्ताओं ने उमरिया में रैली निकालने के पश्चात कलेक्टर कार्यालय उमरिया पहुंच करके राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर उमरिया को तीन सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा है।

क्या लिखा है ज्ञापन में

प्राप्ति कि बडे खेद एवं दुखित मन के साथ आपको यह ज्ञापन प्रेषित किया जा रहा है संदेशखाली (पश्चिम बंगाल) में अनुसूचित जाति/जनजाति बालिकाएं भी शामिल है पर कई वर्षों से लगातार अत्याचार एके अमानवीय व्यवहार तृणमूल कांग्रेस के नेता शाहजहां शेख और उनके गुण्डों द्वारा किया जा रहा हैं। लोगों जिनमें महिलाएं एवं

10312024 संदेशखाली द्वीप जो पश्चिम बंगाल में आता है साथ ही कोलकाता से यह 75 कि0मी0 दूर है के उत्तर में 24 परगना में सुंदरवन हैं जहां पर अनुसूचित जाति/जनजाति के लोग कृषि व अन्य कार्य कर अपना जीवन यापन करते हैं उनकी जमीनों पर तृणमूल कांग्रेस के नेता शाहजहां शेख और उसके गुण्डों द्वारा जबरन कब्जा कर लिया गया है साथ ही क्षेत्र की बहुमूल्य सम्पदा की भी चोरी की जा रही हैं। तृणमूल कांग्रेस के नेता शाहजहां शेख के गुण्डे जबरन घर-घर से महिलाओं तथा युवतियों को उनके द्वारा स्थापित कार्यालय व भवनों में ले जाकर बंधक बनाकर शारीरिक शोषण व अत्याचार करते हैं उनके ऊपर हो रहे इन अमानवीय अत्याचारों के विरुध्द स्थानीय महिलाओं एवं बालिकाओं के द्वारा दिनांक 08.02.2024 को अपनी जान को जोखिम में डालकर जुलूस निकालकर तृणमूल कांग्रेस के नेता शाहजहां शेख और उसके गुण्डो द्वारा किये जा रहे अत्याचार व अन्याय के खिलाफ जिला प्रशासन व शासन स्तर पर शिकायत की गई।

मानन्नीय महामहिम् महोदय जी, उक्त जुलूस में अनुसूचित जाति/जनजाति महिलाओं एवं बालिकाओं के अकोश के परिणाम स्वरूप पश्चिम बंगाल के महामहिम राज्यपाल श्री सी.बी. आनंद बोस द्वारा उस क्षेत्र का भ्रमण / दौरा किया गया था उनके द्वारा व्यक्त किया गया कि मैंने वहां पर जो देखा वह भयानक व भयावह है जिसने मुझे अंदर तक झकझोर दिया हैं। मैने वहां पर ऐसी बाते देखी व सुनी जिसे मुझे देखना व सुनना नहीं चाहिये वहां कि स्थित सभ्यसमाज के लिए शर्मनाक होकर कलंक हैं।

माननीय महामहिम् महोदया जी, कोलकाता उच्च न्यायालय राष्ट्रीय महिला आदान प ‘राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग जैसे सवैधानिक संस्थाओं द्वारा भी इन घटनाओं पर गहरा प व्यक्ति किया गया हैं। राजनीतिक एवं धार्मिक कारणों से प्रेरित यह कृत्य पुलिस प्रशासन एवं पश्चिम बंगाल सरकार की नकामी को उजागर करते हैं। महिलाओं, बालिकाओं और बच्चों के साथ बरबरता पूर्वक व्यवहार, यौन उत्पीडन, मारपीट की अनेकों घटनाऐ लगातार निकलकर सामने आ रही हैं आपराधियों द्वारा जमीन हडपने के कितने ही मामले लगातार उजागर हो रहे है इन घटनाओं से स्पष्ट है कि पश्चिम बंगाल में महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा की स्थिति कितनी भयानक है इस प्रकार से कई दिनों से हो रहे अत्याचारों की घटनाओं के बाद भी पुलिस ने कोई एफ.आई.आर. दर्ज नहीं की हैं। राजनैतिक, धार्मिक, आर्थिक मुद्दों में महिलाओं एवं बच्चों एवं बालिकाओं को निशाना बनाना अत्यंक अमानवीय अपमान जनक एवं पीडादायक है हम इन दर्दनाक घटनाओं की घोर निंदा एवं विरोध करते हैं।

यह भी पढ़ें :MP में मोहन सरकार की कैबिनेट में लिए गए ये 7 बड़े जनहितैषी निर्णय

हम सकल हिन्दु समाज हिन्दू जागरण मंच के द्वारा मांग करते है कि :-

1. राज्य शासन को सख्ती के साथ निर्देशित किया जावे कि तृणमूल कांग्रेस के नेता शाहजहां शेख और उनके गुण्डो के विरूध्द भारतीय दण्ड विधान की विभिन्न धाराओं के साथ अनुसूचित जाति व जनजाति संरक्षण अधिनियम के तहत आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध किया जावे।

2. एक उच्च स्तरीय राष्ट्रीय जाँच दल गठित कर संदेशखाली का भ्रमण व दौरा कर प्रतिवेदन मंगाया जावे तथा उक्त प्रतिवेदन पर तुरंत कार्यवाही कर दोषियों तथा उनको संरक्षण देने वालों को समुचित रूप से दण्डित किया जावे।

3. ऐसी व्यवस्था स्थापित की जावे कि संदेशखाली के अनुसूचित जाति/जनजाति के समुदाय के लोग निर्भय होकर अपना व अपने परिवार का भरण पोषण कर सके तथा समृद्र सभ्य व संगठित भारत की निर्माण में अपनी भूमिका का निर्वाहन कर सके।

राष्ट्रीय महिला आयोग, राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग, राष्ट्रीय अनुसूचित जाति/जनजाति आयोग द्वारा इस गंभीर मामले में दखल देने का हम स्वागत करते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker