मध्य प्रदेशवाइल्ड लाइफस्टेट न्यूज

Tiger Sighting at Bandhavgarh : बाघ छोटा भीम ने कही पर्यटकों रोका रास्ता तो कही बाघिन तारा के तीन बेटों के साथ आया नजर

Tiger Sighting at Bandhavgarh : बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व (Bandhavgarh Tiger Reserve) में आज एक रोमांचित कर देने वाला दृश्य देखकर पर्यटक मंत्रमुग्ध हो गए। जैसे-जैसे गर्मी अपना असर दिखाना शुरू कर रही है वैसे वैसे बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के कोर जोनों (Core Zones Of Bandhavgarh Tiger Reserve) में वॉटर होल (Water Holes) के नजदीक टाइगर साइटिंग (Tiger Sighting) बढ़ती जा रही है वॉटर होल्स के नजदीक थोड़ा समय इंतजार कर लेने पर बाघ दिख ही जाते हैं लेकिन आज टाइगर साइटिंग की ऐसी तस्वीर सामने आई कि पर्यटकों (Tourist) की आंखें फटी की फटी रह गई।

यह भी पढ़ें : लोकायुक्त ने आरक्षक को रंगेहाथों किया गिरफ्तार

दसरसल पूरा मामला बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व (Bandhavgarh Tiger Reserve) के खितौली कोर ज़ोन (Khatauli Core Zone) का है, जहां मॉर्निंग सफारी (Morning Safari) के दौरान पर्यटकों को एक साथ 4-4 बाघ वाटर होल्स के इर्द-गिर्द दिख गए। अमूमन बाघ अपने टेरिटोरियल क्षेत्र (Territorial Area of Tiger) में दूसरे बाघ को बर्दाश्त नही करते लेकिन बाघ छोटा भीम (Tiger Chota Bheem) का बाघिन तारा (Tigress Tara) के प्रति ऐसा समर्पण है कि वह कभी भी उसके तीनो सब एडल्ट्स बाघों को कभी परेशान नही करता बल्कि ऐसी ही एक तस्वीर बीते गर्मियों के सीजन की सामने आई थी जब बाघिन तारा और उसके तीन सब एडल्ट्स शावकों (Sub Adults Tigers) के साथ टाईगर छोटा भीम भी एक साथ वाटर होल्स में नजर आए थे।

यह भी पढ़ें : मधुमक्खियों के काटने से एक कि मौत 17 घायल

यह भी पढ़ें : झाड़ियों में छिपे बाघ ने वृद्ध पर किया हमला

वीडियो में आप देख सकते हैं कि बाघ छोटा भीम वाटर होल में बैठा हुआ है और उसके बगल में ही बाघिन तारा का एक सब एडल्ट्स टाईगर बैठा हुआ हैं और वाटर होल के ऊपर दो बाघ बैठे हुए है। बाघ कभी वाटर होल के ऊपर चले जाते है कभी पानी मे जाकर बैठ जाते है, बाघ दर्शन की ऐसी तस्वीर देखकर पर्यटक मंत्रमुग्ध हो गए।

यह भी पढ़ें : पेपर लीक मामले में चार आरोपियों केa खिलाफ FIR दर्ज

वही एक ऐसी भी तस्वीर खितौली कोर ज़ोन (Khatauli Core Zone) से नजर आई जब बाघ छोटा भीम पर्यटकों का रास्ता रोककर बैठ गया,जिसे देखने के लिए पर्यटक जंगल की खाक छानते फिर रहे हों और वो रास्ते मे ही बैठा मिल जाए तो आप सोच सकते है पर्यटकों के रोमांच का क्या ठिकाना रहा होगा आप भी देखिए

आपको बता दें कि बांधवगढ़ टाईगर रिज़र्व (Bandhavgarh Tiger Reserve) अपनी अधिक बाघों की संख्या के लिए पूरे विश्व भर के बाघ प्रेमियो के बीच प्रसिद्ध है।

यह भी पढ़ें 

Sanjay Vishwakarma

संजय विश्वकर्मा (Sanjay Vishwakarma) 41 वर्ष के हैं। वर्तमान में देश के जाने माने मीडिया संस्थान में सेवा दे रहे हैं। उनसे servicesinsight@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है। वह वाइल्ड लाइफ,बिजनेस और पॉलिटिकल में लम्बे दशकों का अनुभव रखते हैं। वह उमरिया, मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। उन्होंने Dr. C.V. Raman University जर्नलिज्म और मास कम्यूनिकेशन में BJMC की डिग्री ली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button