मेरा पैसाव्यापार

रोज एक कप चाय के पैसे बचाकर बन जाएंगे करोड़पति SEBI चेयरपर्सन ने दिया ये बड़ा मन्त्र

सेबी की चेयरपर्सन माधवी पुरी ने जानकारी देते हुए बताया कि 250 रुपए से शुरू होने वाले सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान पर हुए विचार कर रही हैं साथ ही इस मामले में म्युचुअल फंड कंपनियों के साथ मिलकर के काम करने की योजना बन रही है।

Monthly SIP : छोटी-छोटी बजट से बड़ी वेल्थ क्रिएट होती है। इस मामले की जानकारी देते हुए सेबी के चेयरपर्सन माधवी पुरी का कहना है कि यदि आप एक दिन में एक कप चाय का पैसा नहीं बचा रहे हैं और महीने में सिर्फ ₹250 इन्वेस्टमेंट कर रहे हैं तो आप जल्दी करोड़पति बन सकते हैं। आपको बता दे कि सेबी चेयरपर्सन माधुरी पुरी ने इस उदाहरण के माध्यम से म्युचुअल फंड में निवेश करने वालों के बारे में बताया है कि सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान के माध्यम से छोटी-छोटी रकम जमा करने के बाद भी वेल्थ क्रिएट आसानी से की जा सकती है। वैसे भी इन दोनों शिप को लेकर के आमजन के बीच में जागरूकता बढ़ रही है।

पिछले कुछ सालों में एसआईपी के जरिए म्यूचुअल फंड में निवेश करने वालों की संख्या काफी बढ़ी है। वर्तमान में, कोई व्यक्ति व्यवस्थित निवेश योजना में ₹500 से निवेश कर सकता है। सेबी चेयरपर्सन अब लोगों को देंगे रु. 250 एक एमएफ निवेश विकल्प प्रदान करने का प्रयास कर रहा है। इससे अधिक से अधिक लोग व्यवस्थित निवेश योजनाओं से जुड़ सकते हैं।

हाल ही में एक इवेंट में माधवी पुरी ने कहा कि हम म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री के साथ मिलकर काम कर रहे हैं कि एसआईपी में हर महीने 20 हजार रुपये आएं। क्या 250 से निवेश शुरू किया जा सकता है. एफएमसीजी कारोबार में कई कंपनियों ने शैंपू के छोटे-छोटे पाउच बनाकर अपने कामकाज का काफी विस्तार किया है, म्यूचुअल फंड उद्योग को भी इस तरह का पैटर्न अपनाना चाहिए।

छोटे एसआईपी के कारण भारत के पूंजी बाजार में जबरदस्त वृद्धि देखी गई है। यदि एसआईपी के माध्यम से निवेश करने की न्यूनतम राशि को और कम कर दिया जाता है, तो उम्मीद है कि अधिक लोग एसआईपी के माध्यम से निवेश करने में सक्षम होंगे।

म्यूचुअल फंड उद्योग ने कहा है कि नवंबर में एसआईपी के जरिये म्यूचुअल फंड में निवेश रु. 17000 करोड़ की बढ़ोतरी हुई है. दिलचस्प तथ्य यह है कि इस दौरान विदेशी निवेशक भारतीय शेयर बाजार में बिकवाली कर रहे हैं लेकिन भारतीय निवेशकों ने शेयर बाजार में बड़ी रकम निवेश की है जिसके कारण बाजार में कोई बड़ी गिरावट नहीं आई है।

माधवी पुरी ने कहा है कि स्थानीय निवेशकों के बेहतरीन रुख के कारण शेयर बाजार में तेजी है. विदेशी निवेशकों की बिकवाली भी शेयर बाजार की रफ्तार को धीमी नहीं कर सकी. इस साल नवंबर में सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान के जरिए म्यूचुअल फंड में निवेश रु. 17000 करोड़ का आंकड़ा पार हो चुका है.

पिछले अक्टूबर में म्यूचुअल फंड में एसआईपी के जरिए निवेश रु. 16928 करोड़. एमएफ एसआईपी में निवेश के लिए आवश्यक राशि कम करने से अधिक लोगों को पूंजी बाजार में आकर्षित करने का अवसर मिलेगा और म्यूचुअल फंड उद्योग को काफी मदद मिलेगी।

Sanjay Vishwakarma

संजय विश्वकर्मा (Sanjay Vishwakarma) 41 वर्ष के हैं। वर्तमान में देश के जाने माने मीडिया संस्थान में सेवा दे रहे हैं। उनसे servicesinsight@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है। वह वाइल्ड लाइफ,बिजनेस और पॉलिटिकल में लम्बे दशकों का अनुभव रखते हैं। वह उमरिया, मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। उन्होंने Dr. C.V. Raman University जर्नलिज्म और मास कम्यूनिकेशन में BJMC की डिग्री ली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker